व्यापार मेले में हरियाणा की स्टार्टअप पॉलिसी दिखा रही रंग

Spread the love

युवाओं के स्वरोजगार और उनके स्वावलंबन से जुड़ी हरियाणा सरकार की स्टार्ट अप योजना अब रंग दिखाने लगी है।प्रदेश सरकार की इस योजना का लाभ उठा कर हरियाणा के युवा अब एंटरप्रेन्यूर बनने की राह में अपने कदम बढ़ा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मेक इन इंडिया कैंपेन’ को बढ़ावा देने के मकसद से शुरू की गई इस योजना की सफलता की मिसाल अब हरियाणा के कई युवा बन कर सामने आ रहे हैं।
नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर ( आईआईटीएफ) 2023 में हरियाणा से जुड़े कई ऐसे स्टार्टअप्स को जगह दी गई है जिसमें प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से एमएसएमई से जुड़े छोटे व्यवसायियों ने हिस्सा लिया । इनका स्टार्ट अप आम आदमी को पर्यावरण संरक्षण और प्रदूषण से निजात दिलाने के साथ ही ट्रैफिक जाम से छुटकारा दिलाने में भी मददगार साबित होंगे । इसके साथ ही स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाने में मदद करेगा ।
आपदा को अवसर में बदलकर किया स्टार्ट अप शुरू
हरियाणा मंडप में आधुनिक तकनीक से बनी ई-साइकिल को भी शामिल किया गया है जो स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण सहजने में भी मददगार होगी। हरियाणा में बने ई-साइकिलिंग का यह प्रोजेक्ट स्टार्ट अप विकास यादव लेकर आए हैं । विकास इससे पहले जापान की राजधानी टोक्यो में बहुचर्चित कंपनी ‘टेस्ला’ में नौकरी कर चुके हैं। कोविड महामारी के दौरान उनकी नौकरी चली गई,जिसके बाद भारत लौटकर उन्होंने अपने गृह स्थान हरियाणा के रेवाड़ी में अपना खुद का स्टार्टअप शुरू करने की ठानी।
तीन समस्याओं का एक समाधान
उस समय के हालात और आम जनमानस के स्वास्थ्य को देखते हुए उन्होंने ई-साइकिल बनाने का निश्चय किया । मेक इन इंडिया के स्लोगन से प्रेरित होकर विकास ने ‘मेक इन हरियाणा’ को अपना लक्ष्य बनाया । उन्होंने पैनासोनिक बैटरी सेल से बैटरी पैक तैयार किया जो ई-साइकिल के लिए परफेक्ट है । यह ई-साइकिल सभी वर्गों को देखते हुए तैयार किया गया है । इस ई-साइकिल में ग्रामीण क्षेत्र में 50 से 60 किलोमीटर जाने के लिए मात्र 3 रूपए का खर्च आता है और वही शहरी क्षेत्र में यह खर्च 5 रूपये तक आता है।
भारत की पहली साइकिल कंपनी जिसमें फ्रंट ड्राइव,मिड ड्राइव और रेयर ड्राइव विकल्प
उन्होंने बताया कि यह भारत की पहली साइकिल कंपनी है जिसके पास ई-साइकिल में फ्रंट ड्राइव,मिड ड्राइव और रेयर ड्राइव के विकल्प है ।विकास ने बताया कि उन्होंने विदेशों में एक्सपोर्ट के लिए सैंपल कोरिया, नीदरलैंड और साउथ अफ्रीका में भेजे हैं ।उनके इस स्टार्टअप को विदेशों में भी बहुत अच्छा रिस्पांस देखने को मिला है । उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार की बेहतरीन व्यापारी हितैषी नीतियों एवं योजनाओं के कारण ही यह संभव हो पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *