Health Team : स्वास्थ्य टीम ने क्लिनिक पर मारा छापा, फरार होने की कोशिश

Spread the love
  • संचालिका ने फरार होने की नाकाम कोशिश।
  • टीम ने उपकरण और दवाइयां को बरामद कर को क्लीनिक के कक्ष सील।

अंकित मंगला,तावडू।

Health Team : नगर के बुराका-पचगांव बाईपास पर स्थित विवादित तस्लीमा क्लीनिक पर बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एसडीएम के नेतृत्व में छापा मारकर बड़ी कार्रवाई करते हुए क्लीनिक के कई कक्ष सील कर दिए। छापेमारी से क्लिनिक में हड़कंप मच गया तो संचालिका ने छत के रास्ते से फरार होने का नाकाम प्रयास किया। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक एक शिकायत मिलने पर जिला उपायुक्त के आदेश से छापेमारी की कार्रवाई हुई है।पुलिस की मौजूदगी में एसडीएम के नेतृत्व में कार्रवाई के दौरान सात सदस्यों की स्वास्थ्य टीम ने सबसे पहले क्लीनिक से दवाइयों,उपकरण और दस्तावेजों को जब्त किया। फिर क्लीनिक संचालिका से चिकित्सय डिग्रियां,प्रसव केंद्र एनओसी आदि से संबंधित एसडीएम की मौजूदगी में पूछताछ की, लेकिन वह संतोषजनक जवाब नहीं दे सकी।थोड़ी देर बाद ही सिफारसियों से बात कराने का भी प्रयास किया लेकिन अधिकारियों ने कार्रवाई के दौरान किसी से भी बात करना उचित नहीं समझा। इस दौरान टीम को अस्पताल के बेसमेंट में अवैध रूप से संचालित एक केमिस्ट भी मिला। जिससे संबंधित भी संचालिका कोई दस्तावेज पेश नहीं कर सकी।स्वास्थ्य टीम ने अस्पताल में करीब चार घंटे तक छानबीन के दौरान साथ-साथ वहां पर आने वाले मरीजों से भी उपचार संबंधित पूछताछ की।

वहीं स्वास्थ्य टीम के बुलावे पर मौके पर पहुंचे शिकायतकर्ता आकिब ने बताया कि वह चार महीने की गर्भवती पत्नी को पेट दर्द की शिकायत होने पर क्लीनिक में लेकर पहुंचे थे, जहां पर क्लीनिक संचालिका द्वारा दी गई दवाइयां से पत्नी की आंखों की रोशनी चली गई। उन्होंने सीएम विंडो के माध्यम से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की थी।लेकिन क्लिनिक संचालिका की स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारियों के साथ गहरी साठगांठ के चलते उनकी शिकायत को खारिज कर दिया गया। फिर उनकी शिकायत ग्रीवेंस में पंचायत मंत्री के समक्ष पहुंची,जिसके बाद एसडीएम के नेतृत्व में जिला उपायुक्त ने स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को जांच का आदेश जारी किया।इस बारे में एसडीएम संजीव कुमार ने कहा कि संबंधित क्लिनिक के विरुद्ध हुई शिकायत की जांच के लिए जिला उपायुक्त का आदेश था।चार सदस्यों की एक कमेटी गठित हुई। जांच के दौरान स्वास्थ्य विभाग नियम अनुसार कार्रवाई की है।

तावडू सीएचसी के एसएमओ देवेंद्र सोलंकी ने बताया कि संबंधित क्लिनिक को लेकर पहले भी कई बार शिकायत मिली है।क्लीनिक संचालिका के पास चिकित्सय डिग्री नहीं मिली। अवैध रूप से केमिस्ट की दुकान भी बेसमेंट में चल रही थी। प्रसव केंद्र की भी अनुमति नहीं है,जबकि यहां पर प्रसव कराने सबूत मिले हैं।फिलहाल नियम अनुसार जरूरी दस्तावेज, उपकरण और दवाइयो को बरामद कर क्लीनिक को पूरी तरह सील कर दिया है।संबंधित शहर थाना पुलिस को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की जाएगी।

बता दें की नगर के बूराका-पचगांव चौक पर संचालित तसलीमा क्लीनिक में पहले भी गलत उपचार और अवैध रूप से प्रसव केंद्र में गलत उपचार व गर्भपात करने के आरोप लगे हैं।पहले यह क्लीनिक नगर के लखपत चौक पर मदीना के नाम से था।जहां शिकायत पर शहर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ तो नाम बदल लिया।फिर शातिर संचालिका ने क्लीनिक को स्थानांतरित कर तसलीमा नाम से चलाकर स्वास्थ्य विभाग की आंखों में धूल झोंकने का काम किया।सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस क्लीनिक के माध्यम से बच्चों की तस्करी होती है।स्वास्थ्य विभाग से एक रिटायर अधिकारी का भी क्लिनिक में हिस्सेदारी बताई गई है।शहर थाने में पहले भी उपरोक्त क्लिनिक संचालिका के विरुद्ध केस दर्ज है।

READ ALSO: Sunflower Second Season : जल्द आ रहा है वेब सीरीज ‘सनफ्लावर’ का दूसरा सीजन

READ ALSO: Song ‘Nazar Teri Toofan’ Out : ‘मैरी क्रिसमस’ का दूसरा गाना ‘नजर तेरी तूफान’ हुआ रिलीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *