Margashirsha Amavasya 2023 : जानें मार्गशीर्ष अमावस्या के दुर्लभ उपाय और उनके फायदे

Spread the love

Margashirsha Amavasya 2023:  12 दिसंबर 2023, मंगलवार को मार्गशीर्ष अमावस्या है। यह साल की आखिरी भौमवती अमावस्या होगी। मान्यता है कि भौमवती अमावस्या के दिन पितरों और हनुमान जी की पूजा और उपाय करने से मंगल दोष और पितृ दोष दूर हो जाते हैं और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

जिन लोगों को मांगलिक दोष के कारण विवाह में बाधाएं आ रही हैं वे मार्गशीर्ष मास की भौमवती अमावस्या पर कुछ विशेष उपाय करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

मार्गशीर्ष अमावस्या के उपाय

मार्गशीर्ष अमावस्या मंगलवार को है। ऐसे में मंगल दोष के कारण विवाह में देरी हो रही है तो मंगल ग्रह के बीज मंत्र ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः का 108 बार जाप करें या उससे जुड़ी वस्तुएं स्वर्ण, गुड़, घी, लाल मसूर की दाल, कस्तूरी, केसर, लाल वस्त्र, मूंगा, ताम्बे के बर्तन का निर्धन को दान करें।

मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन त्रिपिंडी श्राद्ध करने से तीन पीढ़ियों के पितर तृप्त हो जाते हैं। साथ ही पितृ दोष से छुटकारा मिलता है। त्रिपिंडी श्राद्ध करने से पूर्वज प्रसन्न होकर घर में सुख, शांति और समृद्धि बनी रहने का आशीर्वाद देते हैं।

मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन जल में तिल डालकर स्नान करें। इसके बाद तर्पण करें और पितरों के देवता अर्यमा की पूजा करें। इस दिन पितृ सूक्त का पाठ करें। ये उपाय आपकी तरक्की की राह में आ रही परेशानियों का अंत करेंगा।

मार्गशीर्ष अमावस्या 2023 मुहूर्त

पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष अमावस्या 12 दिसंबर 2023 को सुबह 06 बजकर 24 मिनट से शुरू होगी और 13 दिसंबर 2023 को सुबह 05 बजकर 01 मिनट पर इसका समापन होगा।

READ ALSO: Painkiller Safety Alert : पेनकिलर दवा को लेकर जारी किया गया रेड अलर्ट

READ ALSO: Fake Toll Plaza : गुजरात हाईवे पर बनाया ‘फर्जी टोल प्लाजा,1.5 साल तक वसूलते रहे टोल टैक्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *